2 Year Special BED Course Closed: अब देशभर में 2 साल का स्पेशल बीएड कोर्स हुआ बंद, अब अभ्यर्थियों को शिक्षक बनने के लिए करना होगा 4 वर्ष का बीएड कोर्स

2 Year Special BED Course Closed: अब देशभर में 2 साल का स्पेशल बीएड कोर्स हुआ बंद, अब अभ्यर्थियों को शिक्षक बनने के लिए करना होगा 4 वर्ष का बीएड कोर्स: भारतीय पुनर्वास परिषद (RCI) द्वारा चार वर्षीय स्पेशल बीएड कोर्स के संबंध में बड़ा नोटिस जारी किया है। नोटिस के अनुसार देश में 2 साल का स्पेशल बीएड कोर्स हमेशा के लिए बंद किया गया है। अब नए सत्र 2024-2025 से केवल 4 वर्षीय बीएड कोर्स को ही मान्य होगा। टीचर बनने की सोच रहे अभ्यर्थियों को अब से 4 वर्षीय स्पेशल बीएड कोर्स (इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम) करने की जरूरत है। यह खबर कुछ युवाओं के लिए अच्छी नहीं हो सकती हैं लेकिन सरकार ने वर्षीय स्पेशल बीएड कोर्स को बंद करके चार साल के इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम को मान्यता प्रदान की है। इस कोर्स को आईटीईपी नाम से भी पहचाना जाता है।

2 Year Special BED Course Closed
2 Year Special BED Course Closed

2 Year Special BED Course Closed

  1. राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 लागू होने के तहत अब देश में 2 Year Special BED Course Closed कर दिया गया हैं। इसके बाद शैक्षणिक सत्र 2024-2025 से चार वर्षीय स्पेशल बीएड कोर्स को ही महत्त्व दिया जाएगा। आरसीआई ने इस बारे में नोटिस भी निकाल दिया हैं। हम आपको बता दें कि भारतीय पुनर्वास परिषद ही देश में विभिन्न शिक्षण संस्थानों में कराए जाने वाले स्पेशल बीएड कोर्स को मान्यता प्रदान करती है। पूरे देश करीब 1000 ऐसे संस्थान / विश्वविद्यालय हैं जो यह कोर्स करवा रहे है। अतः आगामी सत्र से आरसीआई केवल आईटीईपी यानी चार वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम को ही मान्यता देगी।

क्या है स्पेशल बीएड कोर्स

स्पेशल बीएड कोर्स के अंदर दिव्यांग बच्चों को शिक्षण देने के लिए छात्र-अध्यापकों को ट्रेनिंग प्रदान की जाती है। दिव्यांग बच्चों की विशेष प्रकार की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए इस कोर्स में प्रशिक्षण होता है। इसके अंदर सुनने, बोलने व अक्षमता, दृष्टि बाधित, मानसिक विकलांगता इत्यादि दिव्यांगों हेतु पाठ्यक्रम का संचालन होता है। अब RCI ने इस कोर्स को आईटीईपी कोर्स कर दिया है।

इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम (आईटीईपी) कोर्स के बारे में

26 अक्टूबर 2021 को आईटीईपी अधिसूचित किया गया था। यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत एनसीटीई का एक प्रमुख कार्यक्रम है। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTI) द्वारा देश भर में शैक्षणिक सत्र 2023-2024 के मार्च में 57 अध्यापक शिक्षा संस्थानों (TEI) में इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम (आईटीईपी) की शुरुआत की गई। आईटीईपी एक 4 साल की दोहरी-समग्र स्नातक डिग्री है, जो कि बी.ए. बी.एड./ बी.एससी बी.एड. / और बी.कॉम बी.एड. कोर्स उपलब्ध करवाती है। यह कोर्स नई शिक्षा नीति के तहत दिए गए नए स्कूल एजुकेशन सिस्टम के 4 चरणों यानी के लिए शिक्षक तैयार करेेगा या यों कहें कि फाउंडेशनल, प्रिपरेटरी, मिडिल और सेकेंडरी (5+3+3+4) के लिए शिक्षक निमार्ण का काम करेगा।

कैसे बचेगा भावी अध्यापकों का एक साल

वे सभी छात्र-छात्रा जो कि 12th के बाद शिक्षण को अपने करियर के तौर पर अपनाना चाहते हैं उन सभी अभ्यर्थियों के लिए 4 वर्षीय इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम (आईटीईपी) कोर्स उपलब्ध हैं। इस इंटीग्रेटेड कोर्स के माध्यम से अब छात्रों का एक साल बच जाएगा क्योंकि अब वे आवश्यक 5 वर्षों की जगह पाठ्यक्रम को 4 वर्षों में पूरा कर सकेंगे। अभी के समय छात्र तीन साल के कॉलेज कोर्स के बाद ही 2 साल का बी.एड. योजना में शामिल हो रहे थे जिससे उनको 5 साल का समय लगता था परंतु इसके बाद छात्र 4 वर्षों में ही कॉलेज और बी.एड पाठ्यक्रम पढ़ सकते हैं। इस तरह से सीधे तौर पर उनका 1 साल का लाभ होगा।

2 Year Special BED Course Closed करने का आदेश चेक करें – Click Here 

Leave a Comment